career4education.com

Advertisement

  • सातवां वेतन आयोग : 18000 रूपये बोनस मिलने के बाद भी कर्मचारी नाराज, उठ रही है ये मांग!

सातवां वेतन आयोग : 18000 रूपये बोनस मिलने के बाद भी कर्मचारी नाराज, उठ रही है ये मांग!

By: C4E Team Sun, 22 Sept 2019 10:24 AM

सातवां वेतन आयोग : 18000 रूपये बोनस मिलने के बाद भी कर्मचारी नाराज, उठ रही है ये मांग!

हाल ही में, मोदी सरकार के द्वारा रेलवे कर्मचारियों को 78 दिन का बोनस देते हुए 17951 रुपये का फायदा देने की घोषणा की गई हैं। इसकी घोषणा प्रकाश जावडेकर द्वारा की गई थी और कहा गया था कि किसी भी सरकार द्वारा यह पहली बार हुआ हैं कि लगातार रेलवे कर्मचारियों को छ साल तक बोनस का फायदा दिया गया। इस महीने रेलवे कर्मचारियों की सैलेरी 17951 रुपये बढ़कर आनी हैं। लेकिन ख़बरों के मुताबिक इससे कर्मचारी नाराज हैं क्योंकि उनकी मांग थी कि बोनस को 78 दिन से बढ़ाकर 80 दिन किया जाए।

ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन के महामंत्री शिव गोपाल मिश्रा ने बताया कि ट्रेनों में 2.5 करोड़ यात्रियों ने यात्रा की जो पिछले साल की तुलना में ज्यादा है। वहीं माल भाड़े से होने वाली कमाई में भी पिछले साल की तुलना में वृद्धि हुई है। वित्तीय वर्ष 2018-19 में रेल कर्मचारियों ने 22000 यात्री ट्रेनों को कड़ी मेहनत कर के चलाया है। ऐसे में कर्मचारियों को पिछले साल से अधिक बोनस मिलना चाहिए। इस बारे में रेलवे बोर्ड के चेयरमैन को पत्र लिख कर बोनस को 78 दिन से बढ़ा कर कम से कम 80 दिन किए जाने की मांग की गई है।

7th pay cpc,7th pay commission,railway employees,demand to increase bonus ,सातवां वेतन आयोग, सातवां वेतनमान, रेलवे कर्मचारी,बोनस बढाने की मांग

मिश्रा द्वारा बताया गया कि रेल कर्मियों को 78 दिन के बोनस के तौर पर 17950 रुपये मिल रहा है जो कि न्यूनतम मजदूरी से भी कम है। आज के समय में एक महीने की न्यूनतम मजदूरी 18000 रुपये है। वहीं पब्लिक सेक्टर में प्रति दिन के वेतन के हिसाब से बोनस बनता है। ऐसे में जितने दिन का बोनस (bonus) घोषित होता है उतने दिन का बोनस मिलता है। रेलवे की ओर से 75 दिन का बोनस देने की योजना थी। जिसे रेल कर्मचारी संगठनों के भारी विरोध के चलते 78 दिन किया गया है। लेकिन कर्मचारियों की मांग है कि कम से कम 80 दिनों का बोनस रेल कर्मियों को मिलना चाहिए।

रेलवे की ओर से रेल कर्मियों को 78 दिनों का बोनस देने की बात कही जा रही है। वहीं 30 दिन के बोनस के तौर पर 7000 रुपये के आधार पर बोनस का आंकलन किया जाता है। इसका रेल कर्मी लम्बे समय से विरोध भी कर रहे हैं। रेलवे (railway) के कर्मचारी संगठनों के अनुसार रेलवे में इस समय कर्मचारियों की भारी कमी है। ऐसे में कम कर्मचारियों ने ज्यादा काम किया है। ऐसे में बोनस भी अधिक मिलना चाहिए।

यह भी पढ़े :

# सातवां वेतन आयोग : सरकार ने दी कर्मचारियों को खुशियों की सौगात, 10 हजार रुपए महीने तक बढ़ेगी सैलेरी

# सातवां वेतन आयोग : सरकार ने बदला केंद्रीय कर्मचारियों के DA निर्धारित करने का तरीका

# सातवां वेतन आयोग : इन कर्मचारियों के 3 साल नौकरी पर बनने लगेगी पेंशन, NPS के नियम हुए सरल

# सातवां वेतन आयोग : इन लाखों कर्मचारियों के भत्तों को सरकार ने किया दोगुना, दौड़ी खुशी की लहर

# नौकरीपेशा लोगों को दिया मोदी सरकार ने बड़ा झटका, EPF की ब्याज दर में की कटौती

Advertisement