career4education.com

Advertisement

  • केंद्र के उलट गुजरात सरकार नहीं खोलेगी 21 सितंबर से स्कूल

केंद्र के उलट गुजरात सरकार नहीं खोलेगी 21 सितंबर से स्कूल

By: C4E Team Fri, 18 Sept 2020 12:38 PM

केंद्र के उलट गुजरात सरकार नहीं खोलेगी 21 सितंबर से स्कूल

देशभर में कोरोना की वजह से लम्बे समय से शैक्षणिक संस्थान बंद पड़े है। हांलाकि केंद्र द्वारा 21 सितंबर से कक्षा नौवीं से लेकर बारहवीं कक्षा के लिए स्कूल खोले जा रहे हैं और इसको लेकर SOP भी जारी की गई है। लेकिन इसके उलट गुजरात सरकार अभी स्कूल नहीं खोलने जा रही हैं। शिक्षा मंत्री भूपेंद्र सिंह ने इसके पीछे बढ़ते कोरोना मामलों को बताया हैं और कहा कि अभी सूबे की सरकार ने अभी स्कूल नहीं खोलने का निर्णय लिया है।

उन्होंने कहा कि गांधीनगर में मुख्यमंत्री विजय रूपानी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक के दौरान राज्य सरकार ने छात्रों के हित में यह निर्णय लिया है। गौरतलब है कि केंद्र सरकार की तरफ से जारी अनलॉक-4 के दिशा-निर्देशों में 21 सितंबर से कक्षा 9 से 12 तक के स्कूल खोलने की अनुमति दी गई है। इसे लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने स्कूलों को एसओपी भी जारी कर चुका है। लेकिन सूबे की सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए 21 सितंबर से फिर से स्कूल खोलने से इंकार कर दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स का कहना है कि सरकार के इस फैसले का अभिभावकों और स्कूलों ने भी स्वागत किया है। दरअसल, वैश्विक कोरोना महामारी के दौरान अभिभावक और स्कूल भी छात्रों के स्कूल आने का जोखिम नहीं लेना चाहते हैं। शिक्षा मंत्री भूपेंद्र सिंह का भी कहना है कि केंद्र ने साफ किया था कि कक्षा 9 से 12 के लिए 21 सितंबर से स्कूलों को फिर से खोलने का अंतिम फैसला संबंधित राज्यों की ओर से लिया जाएगा। एसओपी के अनुसार, छात्र 21 सितंबर से अपने माता-पिता की अनुमति से शिक्षकों से मार्गदर्शन लेने के लिए स्कूलों में जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि स्थिति में सुधार होने पर उचित निर्णय लिया जाएगा। तब तक राज्य में ऑनलाइन शिक्षा जारी रहेगी।

यह भी पढ़े :

# इस राज्य में छात्र डिजीलॉकर के माध्यम से एक्सेस कर पाएंगे डिग्री और मार्कशीट

# 1 दिसंबर से शुरू होने जा रही इस राज्य में यूजी और पीजी कोर्स की कक्षाएं!

# 18 नवंबर से शुरू होगा डीयू का नया सत्र, जारी हुआ कट ऑफ का पूरा शेड्यूल

# शैक्षणिक वर्ष 2020-21 के लिए UGC द्वारा संशोधित दिशा-निर्देश हुए जारी

# स्नातक के लिए सभी विश्वविद्यालयों में प्रवेश की अगले साल से होगी एक ही परीक्षा

Advertisement