career4education.com

Advertisement

  • आईआईटी रुड़की के शोधकर्ताओं द्वारा बनाया गया हर्बल हैंड सैनिटाइजर, कैंपस में बांटा जाएगा

आईआईटी रुड़की के शोधकर्ताओं द्वारा बनाया गया हर्बल हैंड सैनिटाइजर, कैंपस में बांटा जाएगा

By: C4E Team Thu, 26 Mar 2020 12:35 PM

आईआईटी रुड़की के शोधकर्ताओं द्वारा बनाया गया हर्बल हैंड सैनिटाइजर, कैंपस में बांटा जाएगा

कोरोनावायरस की वजह से हैंड सैनिटाइजर की मांग बढ़ी हैं जो कि हाथों की स्वच्छता में मददगार साबित होता हैं। पहले हैदराबाद आईआईटी की दो महिला शोधकर्ताओं द्वारा हैंड सैनिटाइजर बनाया गया था और अब आईआईटी रुड़की के शोधकर्ताओं द्वारा 150 लीटर हर्बल हैंड सैनिटाइजर तैयार किया गया हैं जिसे कैंपस में फ्री में बांटा जाएगा ताकि कोरोना वायरस से बचा जा सके। आईआईटी रुड़की के शोधकर्ता सिद्धार्थ शर्मा और वैभव जैन ने यह हैंड सैनिटाइजर बनाया है।

आईआईटी रुड़की का दावा है कि यह हैंड सैनिटाइटर 80 प्रतिशत आइसोप्रोपानोल / इथेनॉल से बना है और इसमें एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल और एंटी-फ्लैमेंटरी हर्बल सामग्री है। खास बात है कि यह हैंड सैनिटाइजर मॉइस्चराइजर का भी काम करेगा। यह उत्पाद विश्व स्वास्थ्य संगठन के मानकों के आधार पर बनाया गया है।

आईआईटी रुड़की के दो शोधकर्ताओं द्वारा बनाया गया यह हैंड सैनिटाइजर कैंपस में फ्री में बांटा जाएगा ताकि कोरोना वायरस से बचा जा सके। शोधकर्ता सिद्धार्थ शर्मा का कहना है कि बुनियादी स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए उन्होंने यह हैंड सैनिटाइजर बनाया है। आपको बता दें कि कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच अच्छे से साबुन से हाथ धोना, और हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना बेहद जरूरी है, ताकि वायरस के खतरे को कम किया जा सके।

यह भी पढ़े :

# दिल्ली यूनिवर्सिटी ने रोकी प्रवेश की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया, कारण बना कोरोना वायरस

# अब रेडियो से कराई जाएगी पढ़ाई, नहीं होगा विद्यार्थियों का नुकसान

# अब प्राइवेट स्कूल नहीं वसूलेंगे लॉकडाउन की अवधि तक फीस

# अब बिना परीक्षा के पास होंगे आठवीं तक के विद्यार्थी, शिक्षा मंत्री ने दी जानकारी

# सरकार ने पेश की फ्री लर्निंग एप, नहीं होगी विद्यार्थियों की पढ़ाई बाधित

Advertisement