career4education.com

Advertisement

  • अब ये लोग नहीं पा सकेंगे सरकारी नौकरी, कैबिनेट की बैठक में लिया गया बड़ा फैसला

अब ये लोग नहीं पा सकेंगे सरकारी नौकरी, कैबिनेट की बैठक में लिया गया बड़ा फैसला

By: C4E Team Tue, 22 Oct 2019 7:03 PM

अब ये लोग नहीं पा सकेंगे सरकारी नौकरी, कैबिनेट की बैठक में लिया गया बड़ा फैसला

सरकार द्वारा समय-समय पर कैबिनेट की बैठक (Cabinet Meeting) में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए जाते है जो की विभिन्न मुद्दों से जुड़े होते हैं। इसी कड़ी में अब असम सरकार द्वारा मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल (Sarbananda Sonowal) के नेतृत्व में हुई कैबिनेट की बैठक में यह फैसला लिया गया कि 01 जनवरी 2021 से दो से अधिक बच्चे वालों को सरकारी नौकरी नहीं दी जायेगी। यह फैसला छोटे परिवार के मानक के मुताबिक लिया गया हैं और इसकी विज्ञप्ति भी जारी कर दी गई हैं।

नौकरी के बाद भी नियम लागू
नई नीति के मुताबिक, यह शर्त केवल किसी को सरकारी नौकरी (Government Job) देते समय ही ध्यान में नहीं रखा जायेगा, बल्कि नौकरी के अंत तक सभी को इस नीति के हिसाब से यह ध्यान रखना होगा कि उनके बच्चों की संख्या दो से अधिक ना हो। यदि बच्चों की संख्या दो से अधिक हुआ तो सरकारी नौकरी से उस व्यक्ति को निकाला भी जा सकता है।

नई नीति के मुताबिक, यदि असम में बच्चों की संख्या दो से अधिक है, तो वे सरकारी योजनाओं जैसे ट्रैक्टर ऋण, आवास मुहैया कराने तथा अन्य सरकारी योजनाओं (Government Policies) का लाभ नहीं ले पाएंगे। इसके अतिरिक्त राज्य निर्वाचन आयोग के तहत होने वाले पंचायत, स्वायत्त परिषद और नगक निकाय चुनावों हेतु उम्मीदवारी पेश करने के भी योग्य नहीं होंगे।

career news,career news in hindi,government of assam,more than two children no government jobs,assam cm sarbananda sonowal ,करियर न्यूज़, करियर न्यूज़ हिंदी में, असम सरकार, मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल, दो से अधिक बच्चे वालों को सरकारी नौकरी नहीं

लड़कियों हेतु मुफ्त शिक्षा
असम सरकार (Assam Government) की ओर से लड़कियों को विश्वविद्यालय स्तर तक की शिक्षा मुफ्त मुहैया कराने का सुझाव दिया गया है। इस सुझाव से बेटी बचाओ, बेटी पढाओ अभियान को भी बढ़ावा मिलेगा। असम सरकार स्कूलों में बच्चों की संख्या बढ़ाने हेतु फीस, परिवहन, छात्रावास में भोजन तथा किताबों जैसी सुविधाएं मुफ्त देना चाहती हैं, ताकि अधिक से अधिक लोग अपने बच्चों को स्कूल भेज सके। इससे राज्य में शिक्षा का स्तर भी बढ़ेगा।

जनसंख्या और महिला सशक्तिकरण पॉलिसी
असम विधानसभा ने सितंबर 2017 में ‘जनसंख्या और महिला सशक्तिकरण नीति’ को पारित किया था। इस नीति के मुताबिक केवल दो बच्चों वाले उम्मीदवार ही सरकारी नौकरी हेतु योग्य हैं जबकि मौजूदा सरकारी कर्मचारी दो बच्चों के परिवार के नियम का पालन करेंगे।

यह भी पढ़े :

# इस इंटर्नशिप में आवेदन करने का आज आखिरी मौका, सरकार देगी प्रति माह 10 हजार रुपये

# IIIT Delhi की छात्रा को मिली फेसबुक में नौकरी, सालाना पैकेज 1.45 करोड़ रुपये

# सर्वे में हुआ खुलासा, भारतीय युवा चाहते हैं बेहतर वेतन के बजाए सुरक्षित नौकरी

# IAS और IPS दोनों ही है दमदार जॉब, जानें किसमें है कितना दम

# आखिर क्यों दिल्ली सरकार दे रही है STEM पर जोर, लड़कियों की शिक्षा से जुड़ा है मामला

Advertisement