career4education.com

Advertisement

  • नर्सरी में बच्चों के ऐडमिशन के लिए 28 नवंबर से शुरू होगी पेरेंट्स की दौड़

नर्सरी में बच्चों के ऐडमिशन के लिए 28 नवंबर से शुरू होगी पेरेंट्स की दौड़

By: C4E Team Mon, 11 Nov 2019 5:17 PM

नर्सरी में बच्चों के ऐडमिशन के लिए 28 नवंबर से शुरू होगी पेरेंट्स की दौड़

हर पेरेंट्स चाहते हैं कि उनके बच्चे अपनी शिक्षा की शुरुआत एक अच्छी स्कूल से करें। इसके लिए बच्चों को सबसे पहले नर्सरी में प्रवेश लेना पड़ता हैं और प्राइवेट स्कूलों में नर्सरी ऐडमिशन के लिए 28 नवंबर से प्रक्रिया शुरू होने जा रही है। यह प्रक्रिया शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए हैं। पीछले सत्र के मुकाबले इस बार प्रक्रिया की शुरुआत जल्दी की गई हैं ताकि पैरंट्स और स्कूल दोनों की दिक्कतें कम होंगी और बच्चों की पढ़ाई भी वक्त पर शुरू हो जाएगी। पिछले साल 15 दिसंबर से फॉर्म भरने की प्रक्रिया शुरू हुई थी।

एजुकेशन डायरेक्टर विनय भूषण ने बताया कि जल्द ही ऐडमिशन प्रकिया के लिए नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा। इन शुरुआती क्लासों के लिए ऐडमिशन, पॉइंट सिस्टम के तहत होगा। स्कूल ऐडमिशन का क्राइटेरिया स्कूल की वेबसाइट, नोटिस बोर्ड और शिक्षा निदेशालय की वेबसाइट पर अपलोड करेंगे। स्कूल उन क्राइटेरिया को नहीं रख सकते, जिन्हें हाई कोर्ट के आदेश पर हटा दिया गया है।

निदेशालय इन पॉइंट्स की लिस्ट भी जारी करेगा, जिनके तहत ऐडमिशन नहीं किए जा सकते। इस बार भी ऐडमिशन में नेबरहुड की प्राथमिकता दी जाएगी। क्राइटेरिया को सुनिश्चित करने के लिए एक मॉनिटरिंग कमिटी भी बनाई जाएगी। पिछले साल निदेशालय ने तीनों क्लासों के लिए उम्र की ऊपरी लिमिट यानी अपर एज लिमिट लागू की थी, जो इस साल भी रहने की उम्मीद है। नर्सरी के लिए 3 से 4 साल, केजी के लिए 4 से 5 साल और क्लास 1 के लिए 5 से 6 साल उम्र (31 मार्च तक) की लिमिट तय की गई थी।

इकनॉमिकली वीकर सेक्शन/डिसएडवांटेज ग्रुप (ईडब्ल्यूएस/डीजी) कैटिगरी के लिए ऐडमिशन प्रकिया की तैयारी चल रही है। एजुकेशन डायरेक्टर ने बताया कि सभी डीडीई से प्राइवेट स्कूलों की सीटों का डेटा मंगवाया गया है। कुछ डिस्ट्रिक्ट का डेटा आना बाकी है। हमारा इरादा है कि इस बार इन बच्चों के लिए वक्त पर ऐडमिशन प्रक्रिया पूरी की जाए। विनय भूषण ने बताया कि 15 नवंबर को ईडब्ल्यूएस/डीजी कैटिगरी की इस साल की खाली सीटों (ऐकडेमिक सेशन 2018-19) के लिए हमने एक और कंप्यूटराइज्ड ड्रॉ रखा है। इस बार दिव्यांग स्टूडेंट्स के लिए खाली रह गईं करीब 5 हजार सीटों को भी हम ईडब्ल्यूएस कैटिगरी में तब्दील कर देंगे और इस ड्रॉ में शामिल करेंगे। कुल मिलाकर ईडब्ल्यूएस की करीब 41 हजार तक सीटें हो जाएंगी।

यह भी पढ़े :

# IIT में ऐसा हुआ पहली बार, सभी सीटों पर हुआ एडमिशन

# DU Admission 2019: पेड़ लगाने पर ही मिलेगा दिल्ली यूनिवर्सिटी के इन कॉलेजों में दाखिला

# DU First Cut Off 2019: जारी हुई पहली कट ऑफ लिस्ट, 99 प्रतिशत के साथ सबसे ऊपर रहा हिंदू कॉलेज का पॉलिटकल साइंस कोर्स

# DU Admission 2019: आज जारी होगी पहली लिस्ट, जनरल से कम रहेगी ईडब्ल्यूएसछात्रों के लिए कट-ऑफ

# IIT में नहीं मिल पा रहा दाखिला, इसके समकक्ष इन बड़े संस्थानों में ले सकते है प्रवेश

Advertisement