career4education.com

Advertisement

  • मनोज तिवारी को हटा आदेश कुमार गुप्ता को संभलाई गई दिल्ली BJP अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी

मनोज तिवारी को हटा आदेश कुमार गुप्ता को संभलाई गई दिल्ली BJP अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी

By: C4E Team Tue, 02 June 2020 7:11 PM

मनोज तिवारी को हटा आदेश कुमार गुप्ता को संभलाई गई दिल्ली BJP अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी

भारतीय जनता पार्टी द्वारा 02 जून 2020 को राज्यों के प्रदेश अध्यक्षों की नियुक्तियों में कई बदलाव किए गए हैं। इसमें सबसे चौकाने वाला नाम सामने आया दिल्ली BJP अध्यक्ष पद का जिसकी जिम्मेदारी पहले मनोज तिवारी के हाथ में थी जिसे बदलकर अब आदेश कुमार गुप्ता को संभला दी गई हैं। इसी के साथ छत्तीसगढ़ की जिम्मेदारी विष्णुदेव साय और मणिपुर की जिम्मेदारी एस टिकेंद्र सिंह के हाथों में दी हैं। मनोज तिवारी को साल 2016 में दिल्ली भाजपा अध्यक्ष नियुक्त किया गया था। बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह की तरफ से जारी नियुक्ति पत्र में कहा गया है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के आदेश पर मनोज तिवारी की जगह आदेश गुप्ता को दिल्ली का नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया है। यह नियुक्ति तत्काल प्रभाव से लागू हो चुका है।

मनोज तिवारी ने ट्वीट कर नए प्रदेश अध्यक्ष आदेश कुमार गुप्ता को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर 3.6 साल के कार्यकाल में जो प्यार और सहयोग मिला उसके लिये सभी कार्यकर्ता, पदाधिकारी और दिल्ली वासियों का सदैव आभारी रहूंगा।

आदेश कुमार गुप्ता कौन हैं?
- आदेश कुमार गुप्ता दिल्ली की जमीनी राजनीति से जुड़े हुए नेता के तौर पर जाने जाते हैं। आदेश गुप्ता के पास पार्षद और नॉर्थ दिल्ली के मेयर का तजुर्बा है। यानी दिल्ली की सियासत में उनका तजुर्बा काफी नीचे तक है।
- आदेश गुप्ता मूल रूप से उत्तर प्रदेश (यूपी) के रहने वाले हैं। वे कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के बाद दिल्ली आ गए थे। उन्होंने यहां शुरुआती दिनों में ट्यूटशन पढ़ाकर अपना गुजारा किया।
- आदेश गुप्ता NDMC स्टैंडिंग कमेटी के सदस्य भी रहे हैं। भारतीय जनता युवा मोर्चा और भाजपा में कई पद पर रह चुके हैं। उन्होंने चुनावी राजनीति की शुरुआत महज तीन साल पहले की है।
- साल 2017 में वेस्ट पटेल नगर से पहली बार नगर निगम का चुनाव जीतकर पार्षद बने। उन्हें साल 2018 में उत्तरी दिल्ली नगर निगम का महापौर बनाया गया। इन्हें विधानसभा चुनाव के पहले दिल्ली में बंगाली समाज को पार्टी के साथ जोड़ने की जिम्मेदारी दी गई थी।
- उन्होंने छत्रपति साहू जी महाराज विश्वविद्यालय, कानपुर से बीएससी की शिक्षा प्राप्त की है। वे पहली बार वार्ड नंबर 98 (वेस्ट पटेल नगर) से पार्षद बने थे।

यह भी पढ़े :

# इस भारतीय किशोर ने रिकॉर्ड बना दर्ज कराया गिनीज बुक में अपना नाम

# यहां जानें उन 89 Apps के बारे में जिनपर भारतीय सेना ने लगाया बैन

# Global Real State Transparency Index : 34वें स्थान पर रहा भारत, पाकिस्तान बहुत पीछे

# चाइना मास्टर्स और डच ओपन रद्द होने का कारण बनी कोरोना महामारी

# ISL 2021-22 : चार विदेशी खिलाड़ी बन सकेंगे टीम का हिस्सा

Advertisement