career4education.com

Advertisement

  • देश में फिर हो सकेंगे मुक्केबाजी के मुकाबले, करना होगा इन नियमों का पालन

देश में फिर हो सकेंगे मुक्केबाजी के मुकाबले, करना होगा इन नियमों का पालन

By: C4E Team Sat, 23 May 2020 11:34 AM

देश में फिर हो सकेंगे मुक्केबाजी के मुकाबले, करना होगा इन नियमों का पालन

लॉकडाउन की वजह से देशभर में सभी खेल आयोजनों पर भी विराम लगा दिया गया था। लेकिन अब धीरे-धीरे नियमों की पालना के साथ इन्हें फिर से शुरू करने की कवायद की जा रही हैं। इस कड़ी में अब मुक्केबाजी को भी बहाल कर दिया गया हैं और देश में अब मुक्केबाजी के मुकाबले हो सकेंगे लेकिन बिना दर्शकों के। जी हाँ, कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर ये मुकाबले बिना दर्शकों के वातानुकूलित जगहों की बजाय अच्छे हवादार स्थानों पर होंगे और 60 वर्ष से अधिक उम्र के अधिकारी प्रतियोगिता स्थल पर नहीं जा सकेंगे। प्रतियोगिताओं के दौरान मुक्केबाजों और अधिकारियों को अलग अलग कमरे दिये जायेंगे। इसके साथ ही डाइनिंग हॉल नहीं होगा बल्कि पैकेट में लंच और डिनर मिलेगा।

मुक्केबाजी में अभ्यास और प्रतियोगिताओं की बहाली को लेकर 19 पन्ने की मानक संचालन प्रक्रिया में भारतीय मुक्केबाजी महासंघ ने स्वास्थ्य को लेकर वही दिशा निर्देश रखे हैं जिनका सुझाव भारतीय खेल प्राधिकरण ने दिया है।

इसमें एक पन्ना उन प्रोटोकॉल का है जो राष्ट्रीय स्तर पर मुक्केबाजी स्पर्धाएं बहाल होने पर अमल में लाया जाएगा। इसमें कहा गया, ‘प्रतिस्पर्धाएं दर्शकों के बिना होंगी। सिर्फ सीमित संख्या में जरूरी लोगों को ही वहां प्रवेश दिया जायेगा। वॉलिंटियर की संख्या में कटौती होगी।’ इसमें कहा गया, ‘वातानुकूलित परिसरों से बचे क्योंकि इनसे संक्रमण फैल सकता है। खुले हवादार वेन्यू पर ही स्पर्धाएं होंगी।’ फिलहाल मुक्केबाजी की कोई स्पर्धा नहीं होनी है, लेकिन अक्तूबर नवंबर में बीएफआई राष्ट्रीय टूर्नामेंट कराना चाहता है, जिसके बाद एशियाई चैम्पियनशिप होगी। एक अन्य दिशा निर्देश में कहा गया, ‘60 वर्ष से अधिक उम्र के अधिकारी प्रतियोगिता स्थल पर नहीं होंगे क्योंकि उनमें संक्रमण का खतरा अधिक होता है।’

यह भी पढ़े :

# आखिर क्या हैं ‘ओपन स्काइज’ संधि जिससे अलग हुआ अमेरिका

# अर्जुन अवॉर्ड के लिए भेजा गया स्टार भारोत्तोलक मीराबाई चानू का नाम, जीत चुकी है खेल रत्न

# लॉकडाउन के दौरान किसानों को बांटी गई 19,100 करोड़ रुपये की सहायता राशि

# चारधाम परियोजना : अब आसान होगी भक्तों की राह, किया गया चंबा सुरंग का उद्घाटन

# आजादी के बाद से अब तक आर्थिक मंदी की सबसे गंभीर स्थिति : क्रिसिल

Advertisement