career4education.com

Advertisement

  • गूगल ने डूडल से किया कैफी आजमी के 101वें जन्मदिन को याद

गूगल ने डूडल से किया कैफी आजमी के 101वें जन्मदिन को याद

By: C4E Team Tue, 14 Jan 2020 11:01 AM

गूगल ने डूडल से किया कैफी आजमी के 101वें जन्मदिन को याद

आज 14 जनवरी 2020 हैं और गूगल का पेज खोलते ही डूडल में एक शख्स नजर आ रहा हैं जिसका नाम हैं कैफी आजमी जिनकी आज 101वीं जयंती हैं। भारत के जाने-माने कवि, गीतकार और कार्यकर्ता कैफी आजमी फिल्मफेयर अवार्ड, साहित्य और शिक्षा के लिए प्रतिष्ठित पद्म श्री पुरस्कार और साहित्य अकादमी फेलोशिप सम्मान से सम्मानित हुए हैं। गूगल ने आज का डूडल कैफी आजमी के नाम किया है और उन्हें याद किया हैं। आइये जानते है कैफी आजमी के बारे में।

- कैफी आजमी का जन्म 14 जनवरी 1919 को आज़मगढ़ के मिज़वान गाँव में हुआ था। उनका असली नाम अख्तर हुसैन रिजवी था।

- कैफी आजमी को बचपन से ही कविताएँ लिखने का शौक था। उन्होंने अपनी किशोरावस्था के दौरान कविता पाठ में भाग लेना शुरू कर दिया था।

- कैफी आजमी ने मुंबई आकर एक उर्दू अखबार में लिखना शुरू कर दिया था। उनका पहला कविता संग्रह 'झंकार' साल 1943 में प्रकाशित हुआ था।

- कैफी आजमी बाद में ‘प्रगतिशील लेखक संघ’ के सदस्य बने, जो सामाजिक-आर्थिक सुधार लाने के लिए लिखते थे।

- उन्होंने फिल्म पाकीजा में 'चलते चलते', फिल्म 'अर्थ' में 'कोई ये कैसे बताए' और 'ये दुनिया ये महफिल' जैसे गीतों को लिखा। उनका लिखा हुआ देशभक्ति गाना 'कर चले हम फिदा' बहुत मशहूर हुआ था।

यह भी पढ़े :

# वैश्विक प्रतिभा सूचकांक में भारत को मिला 72वां स्थान, स्विटजरलैंड सबसे शीर्ष पर

# ILO इस साल वैश्विक बेरोज़गारी में 2.5 मिलियन बढ़ने का अनुमान

# ग्लोबल डेमोक्रेसी इंडेक्स में अबतक भारत का सबसे कम स्कोर, मिला 51वां स्थान

# 1 जून से देशभर में लागू होगी एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना, जानें इसके फायदे

# वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम द्वारा दीपिका पादुकोण को किया गया 'क्रिस्टल अवॉर्ड' से सम्मानित

Advertisement