career4education.com

Advertisement

  • कोरोना वायरस : टाला गया एनपीआर और जनगणना का पहला चरण

कोरोना वायरस : टाला गया एनपीआर और जनगणना का पहला चरण

By: C4E Team Thu, 26 Mar 2020 5:09 PM

कोरोना वायरस : टाला गया एनपीआर और जनगणना का पहला चरण

वर्तमान में देश के सामने कोरोना वायरस से बचना और इसके संक्रमण को रोकना बड़ी चिंता बना हुआ हैं। इसके चलते 21 दिन का लॉकडाउन किया जा चुका हैं और कई महत्वपूर्ण कार्यों को भी स्थगित किया गया हैं। इस कड़ी में अब सरकार द्वारा एनपीआर और जनगणना के पहले चरण को टाल दिया गया हैं। केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न महामारी की स्थिति को देखते हुए जनगणना 2021 के पहले चरण और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) को अपडेट करने के कार्य को अगले आदेश तक स्थगित कर दिया है।

गृह मंत्रालय की ओर से 25 मार्च 2020 को इस बात की पुष्टि की गई है। एनपीआर को लेकर कई महीनों से देश में विरोध प्रदर्शन चर रहा था, हालांकि कोरोना वायरस (कोविड-19) के खतरे को देखते हुए लॉकडाउन के बाद प्रदर्शनकारियों को हटा दिया गया।

एनपीआर की प्रक्रिया 01 अप्रैल 2020 से शुरू होने वाली थी। एनपीआर, हाउस लिस्टिंग और जनगणना 2021 का काम एक अप्रैल से 30 सितंबर के बीच होना था। गृह मंत्रालय की स्टैंडिंग कमेटी ने मार्च 2020 में डिमांड फॉर ग्रांट्स (2020-2021) की रिपोर्ट राज्यसभा में रखी थी। इस कमेटी की अध्यक्षता कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा कर रहे थे। रिपोर्ट में कहा गया है कि एनपीआर फॉर्म 2020 में माता-पिता के जन्मस्थान और उनकी जन्मतिथि को लेकर सवाल पूछे गए हैं, जिस पर सरकार का तर्क था कि इससे बैक एंड डेटा प्रोसेसिंग और मजबूत होगा। गौरतलब है कि कई राज्यों ने एनपीआर को लेकर आपत्ति जाहिर की गई।

यह भी पढ़े :

# फीफा द्वारा स्थगित किया गया भारत में होने वाला अंडर-17 महिला विश्व कप

# किया गया राष्ट्रीय निगरानी डैशबोर्ड का शुभारंभ, कोविड-19 से जुड़ी शिकायतों का होगा निवारण

# एशियाई युवा खेल 2021 की मेजबानी करेगा चीन, कलक कर जानें पूरी जानकारी

# नासा द्वारा की गई सनराइज़ मिशन की घोषणा, जानें महत्व और विशेषता

# कोरोना से लड़ाई में सरकार द्वारा लॉन्च की गई ‘Aarogya Setu’ मोबाइल ऐप

Advertisement