career4education.com

Advertisement

  • राजस्थान के पोखरण में किया गया एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल 'नाग' का सफल परीक्षण, जल्द होगी भारतीय सेना में शामिल

राजस्थान के पोखरण में किया गया एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल 'नाग' का सफल परीक्षण, जल्द होगी भारतीय सेना में शामिल

By: C4E Team Mon, 22 July 2019 7:05 PM

राजस्थान के पोखरण में किया गया एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल 'नाग' का सफल परीक्षण, जल्द होगी भारतीय सेना में शामिल

देश की सेना को मजबूत बनाने के लिए रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) द्वारा कई आधुनिक अस्त्र-शस्त्र बनाए जाते हैं ताकि देश की सुरक्षा को मजबूती मिल सकें। इसी और कदम बढाते हुए भारतीय सेना द्वारा हाल ही में 7-18 जुलाई तक राजस्थान के पोखरण में तीसरी पीढ़ी की एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल नाग का परीक्षण किया जो कि सफल रहा। इस मिसाइल कप लॉन्च करने के लिए नाग मिसाइल कैरियर की मदद ली गई और अब इसे जल्द ही भारतीय सेना में शामिल किया जाएगा। तो आइये जानते हैं इस मिसाइल की विशेषताओं के बारे में।

- यह दिन और रात की क्षमताओं के साथ सभी मौसम की स्थिति में अत्यधिक दृढ़ दुश्मन टैंकों से लड़ने में सक्षम है।

- इसकी न्यूनतम सीमा 500 मीटर और अधिकतम सीमा चार किलोमीटर है।

- नाग ग्रीष्मकालीन उपयोगकर्ता परीक्षणों के एक भाग के रूप में पोखरण पर्वतमाला में अत्यधिक तापमान के तहत 6 मिशन किए गए थे। शीतकालीन उपयोगकर्ता परीक्षण फरवरी 2019 में आयोजित किए गए थे।

22 july 2019 current affairs,current affairs,current affairs in hindi,anti tank guided missile nag,misile testing in pokhran rajasthan ,22 जुलाई 2019 करंट अफेयर्स, करंट अफेयर्स, करंट अफेयर्स हिंदी में, एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल नाग, राजस्थान के पोखरण में मिसाइल का परीक्षण

डीआरडीओ के बारे में

- मुख्यालय: नई दिल्ली
- स्थापित: 1958
- आदर्श वाक्य: 'शक्ति की उत्पत्ति विज्ञान में है'
- अध्यक्ष: डॉ.जी.सतीश रेड्डी

भारतीय सेना के बारे में

- थल सेनाध्यक्ष: जनरल बिपिन रावत
- आदर्श वाक्य: स्वयं से पहले सेवा
- मुख्यालय: नई दिल्ली

यह भी पढ़े :

# सबसे डिजीटल शहरों में बेंगलुरु सबसे ऊपर, दिल्ली को मिला पांचवा स्थान

# सबसे लंबे समय तक इजरायल पीएम रहने वाले व्यक्ति बने बेंजामिन नेतन्याहू, रचा इतिहास

Advertisement