career4education.com

Advertisement

  • राष्ट्रीय पेंशन योजना में व्यापारियों को भी मिलेगा लाभ, जानें कैसे उठाए इसका फायदा

राष्ट्रीय पेंशन योजना में व्यापारियों को भी मिलेगा लाभ, जानें कैसे उठाए इसका फायदा

By: C4E Team Mon, 16 Sept 2019 5:27 PM

राष्ट्रीय पेंशन योजना में व्यापारियों को भी मिलेगा लाभ, जानें कैसे उठाए इसका फायदा

सरकार द्वारा समय-समय पर कई योजनाओं की शुरुआत की जाती हैं ताकि देश की जनता को इसका फायदा मिल सकें। किसानों और सरकारी कर्मचारियों के लिए तो कई योजनाएँ आती हैं रहती हैं। लेकिन व्यापारियों और स्वरोजगार वालों को हमेशा ही यह लगता हैं कि सरकार उनके लिए कोई मुख्य कदम नहीं उठाती हैं। इस भ्रम को तोड़ते हुए मोदी सरकार द्वारा राष्ट्रीय पेंशन योजना की शुरुआत की गई हैं जिसका फायदा व्यापारियों और स्वरोजगार वालों को होगा। इस योजना के तहत लाभार्थी को 60 वर्ष की उम्र के बाद 3,000 रुपये मासिक पेंशन का फायदा मिलेगा। आज हम आपके लिए इससे जुड़ी जानकारी लेकर आए हैं कि किस तरह इस योजना का फायदा उठाया जा सकता हैं।

देश भर में स्थित 3.50 लाख कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) के माध्यम से इस योजना में नामांकन कराया जा सकता हैं अथवा www.maandhan.in/vyapari पोर्टल पर जाकर भी नामांकन किया जा सकता हैं। यह पेंशन योजना दुकानदारों, खुदरा व्यापारियों तथा स्वरोजगार में लगे व्यक्तियों के लिए है जिनका वार्षिक कारोबार 1.5 करोड़ रुपये से अधिक नहीं है।

national pension schem,scheme for traders,advantage of national pension schem,procesure of national pension schem,modi government ,राष्ट्रीय पेंशन योजना, व्यापारियों को राष्ट्रीय पेंशन योजना का लाभ, राष्ट्रीय पेंशन योजना के लाभ, राष्ट्रीय पेंशन योजना के नियम, मोदी सरकार

नामांकन प्रक्रिया के नियम
- नामांकन के लिए जरूरी दस्तावेज में आधार कार्ड और बचत बैंक/जन-धन खाता पासबुक ले जाना जरुरी है।
- लाभार्थी की आयु 18 वर्ष से 40 वर्ष के बीच में होनी चाहिए।
- 40 लाख से अधिक वार्षिक व्यापार वाले व्यापारियों के लिए जीएसटीआईएन की जरूरत है।
- योजना के तहत लाभार्थियों के लिए नामांकन नि:शुल्क है। नामांकन स्व-प्रमाणन पर आधारित है।

राष्ट्रीय पेंशन योजना के फायदे
- इसमें लाभार्थी की आयु 60 वर्ष होने पर न्यूनतम 3,000 रुपये मासिक पेंशन देने का प्रावधान है।
- लाभार्थी को आयकर दाता नहीं होना चाहिए तथा उसे ईपीएफओ/ ईएसआईसी/ एनपीएस (सरकार)/ पीएम-एसवाईएम का सदस्य भी नहीं होना चाहिए।
- इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार का मासिक अंशदान में 50 प्रतिशत योगदान होगा और शेष 50 प्रतिशत अंशदान लाभार्थी द्वारा किया जाएगा।
- इस योजना के तहत मासिक योगदान को कम रखा गया है। लाभार्थी को 29 वर्ष की आयु होने पर केवल 100 रुपये प्रति माह का छोटा सा योगदान देना होगा।

Advertisement