career4education.com

Advertisement

  • International Men’s Day 2019: क्यों मनाया जाता हैं यह दिन, जानें इसका इतिहास और महत्व

International Men’s Day 2019: क्यों मनाया जाता हैं यह दिन, जानें इसका इतिहास और महत्व

By: C4E Team Tue, 19 Nov 2019 1:17 PM

International Men’s Day 2019: क्यों मनाया जाता हैं यह दिन, जानें इसका इतिहास और महत्व

साल के 365 दिन में हर दिन का कोई विशेष महत्व होता हैं। आज 19 नवंबर का दिन 80 देशों में अंतरराष्ट्रीय पुरुष दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस बार अंतरराष्ट्रीय पुरुष दिवस की थीम- "मेकिंग अ डिफरेंस फॉर मेन एंड बॉयज" है। भारत ने पहली बार साल 2007 में अंतरराष्ट्रीय पुरुष दिवस मनाया था। यह दिवस प्रत्येक साल अपने समाज और परिवार में सकारात्‍मक बदलाव लाने को प्रत्‍साहन देने हेतु मनाया जाता है।

अंतरराष्ट्रीय पुरुष दिवस की शुरुआत कैसे हुई?
अंतरराष्ट्रीय पुरुष दिवस एक वार्षिक अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम है। थॉमस ओस्टर द्वारा इस दिवस की शुरुआत 07 फरवरी 1992 को की गई थी। अंतरराष्ट्रीय पुरुष दिवस की परियोजना की कल्पना एक साल पहले 08 फरवरी 1991 को की गई थी। इसके बाद इस परियोजना को साल 1999 में त्रिनिदाद और टोबैगो में फिर से शुरू किया गया था।

अंतरराष्ट्रीय दिवस का महत्व
अंतरराष्ट्रीय पुरुष दिवस पुरुष और लड़कों के स्वास्थ्य पर ध्यान देने, लिंग संबंधों में सुधार और लैंगिक समानता को बढ़ावा देने हेतु मनाया जाता है। अंतरराष्ट्रीय पुरुष दिवस की वेबसाइट के अनुसार, दुनिया में महिलाओं की तुलना में पुरुष 3 गुना अधिक आत्महत्या करते हैं। साथ ही, हर तीन में से एक आदमी घरेलू हिंसा का शिकार है। यह भी पाया गया कि महिलाओं की तुलना में दोगुने से अधिक पुरुष हृदय रोग से पीड़ित हैं।

भारत में पुरुष दिवस कैसे मनाया जाता है?
यह दिन विश्वभर के पुरुषों के लिए समर्पित है। इस दिन पुरुषों के लिए विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। यह दिवस भारत में उतना लोकप्रिय नहीं है लेकिन धीरे-धीरे इस दिन को मनाने का जोर पकड़ने लगा है। निजी संगठन, गैर-सरकारी संगठन और नागरिक समाज लोगों को पुरुषों के अधिकारों के लिए आवाज़ उठाने के लिए आगे आने हेतु प्रोत्साहित कर रहे हैं।

यह भी पढ़े :

# भारत के 47वें मुख्य न्यायाधीश बनें शरद अरविंद बोबडे, जानें इनके बारे में

Advertisement